राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यकाल के 3 साल हुए पूरे, एक नजर उनके कामों पर 

POLITICS

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यकाल के 3 साल हुए पूरे, एक नजर उनके कामों पर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे कर लिए। उन्होंने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में देश का मार्गदर्शन किया और इस दौरान सैनिकों और वैज्ञानिकों सहित लगभग 7000 लोगों से मुलाकात की। कोविंद 2017 में प्रणब मुखर्जी के बाद भारत के 14 वें राष्ट्रपति बने थे।

राष्ट्रपति भवन के ट्विटर हैंडल से लिखा गया-“भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज पद पर रहते हुए तीन साल पूरे कर लिए हैं।”

राष्ट्रपति कोविंद ने प्रथम महिला और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उन सभी के प्रति आभार व्यक्त किया जो अपनी और अपने परिवार की जान खतरे में डालकर देश के नागरिकों की स्वास्थ्य की रक्षा कर रहे हैं। राष्ट्रपति भवन ने इन्फोग्राफिक्स के जरिये उनके तीन साल के कार्यकाल के दौरान की गई विभिन्न पहलों और कार्यों पर प्रकाश डाला।

राष्ट्रपति कोविंद ने पीएम-केयर्स फंड में अपने एक महीने का वेतन दान किया और एक साल के लिए अपने वेतन का 30% देने का फैसला किया है।

जुलाई 2019 से जुलाई 2020 के बीच, कोविंद ने संयुक्त राज्य अमेरिका, श्रीलंका, जाम्बिया, ब्राजील, स्वीडन, मंगोलिया, नीदरलैंड, पुर्तगाल और म्यांमार के प्रमुखों की मेजबानी की। उन्होंने पांच महाद्वीपों के 15 वैश्विक नेताओं और 28 देशों के राजदूतों / उच्चायुक्तों की अगवानी की।

राष्ट्रपति भवन के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब कोविड-19 महामारी के कारण, वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से क्रेडेंशियल्स दिए गए। कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में राज्यपालों और उपराज्यपालों के 50 वें सम्मेलन की मेजबानी की।

राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा कि हमारी संवैधानिक प्रणाली में राज्यपालों की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। राष्ट्रपति कोविंद ने उपराष्ट्रपति के साथ सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के राज्यपालों और उपराज्यपालों के साथ दो वीडियो कॉन्फ्रेंस कीं, जिसमें केंद्र और राज्य स्तरों पर कोरोना को संभालने के प्रयासों पर बल दिया गया। राष्ट्रपति भवन में और विभिन्न राज्यों में उनके दौरे के दौरान, लगभग 6,991 लोगों ने राष्ट्रपति से मुलाकात की।

“राष्ट्रपति कोविंद ने प्रति दिन लगभग 20 व्यक्तियों से मुलाकात की जिसमें सैनिकों, वैज्ञानिकों से लेकर किसानों और अग्निशामकों तक शामिल हैं।”

‘फोकस ऑन कैंपस’ नामक स्लाइड में, राष्ट्रपति भवन ने कहा कि राष्ट्रपति ने पूरे भारत में नौ दीक्षांत समारोह को संबोधित किया जिसमें IIT रुड़की, पॉन्डिचेरी विश्वविद्यालय, सिक्किम विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया और विश्व भारती शामिल हैं।

साथ ही इसमें कहा गया है कि राष्ट्रपति ने केंद्र सरकार के 48 और राज्य सरकारों के 22 बिलों को मंजूरी दी, 13 अध्यादेशों को लागू किया और 11 राज्यपालों, भारत के मुख्य न्यायाधीश, मुख्य सूचना आयुक्त और केंद्रीय सतर्कता आयुक्त को नियुक्त किया।

राष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल के तीसरे साल में, 19 राज्यों और चार केंद्र शासित प्रदेशों का दौरा किया। कोविंद ने राष्ट्रपति पद के तीसरे वर्ष में सात राजकीय दौरे किए और सभी देशों में भारतीय समुदाय को संबोधित किया।

साक्षी बंसल की रिपोर्ट