सरपंच,सचिव,रोजगार सहायक की दबंगई..दिनदहाड़े कटवा दिया इमारती पेड़* *मनरेगा के तहत तालाब गहरीकरण कार्य मे लगे आदिवासी मजदूर के ऊपर गिरा पेड़,मजदूर की टूटी टांग* *रतनपुर पुलिस एवं वन अमला कुम्भकर्णी नींद में सोया

*सरपंच,सचिव,रोजगार सहायक की दबंगई..दिनदहाड़े कटवा दिया इमारती पेड़*

*मनरेगा के तहत तालाब गहरीकरण कार्य मे लगे आदिवासी मजदूर के ऊपर गिरा पेड़,मजदूर की टूटी टांग*

*रतनपुर पुलिस एवं वन अमला कुम्भकर्णी नींद में सोया*

*शिकायत के बात भी नही दर्ज हुई एफआईआर, ईलाज के लिए दर दर की ठोकर खा रहा आदिवासी मजदूर परिवार*

*पढ़िए क्या है पूरा मामला…*

बिलासपुर।रतनपुर पुलिस के सामने एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमे सरपंच,सचिव,सरपंच पति,उपसरपंच सहित रोजगार सहायक पर जुर्म दर्ज करने का निवेदन किया गया है।

मामले को लेकर मिली जानकारी में उत्तरा कुमार खैरवार दिनांक 25 फरवरी के दिन मनरेगा कार्य के अंर्तगत तालाब गहरीकरण का कार्य करने गया था जिस दौरान पंचायत द्वारा इमारती पेड़ कटवाया जा रहा था। जो पेड़ उत्तरा के ऊपर गिर गया जिससे उत्तरा नामक ग्रामीण बुरी तरह से घायल हो गया।पेड़ उसके पैर के हिस्से पर गिर जाने की वजह से उसका पैर टूट गया है।

घटना के दौरान उक्त घायल उत्तरा को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया किंतु पंचायत के कुछ पदाधिकारियों द्वारा पुलिस केस की सोचकर उत्तरा को बिलासपुर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।घटना के सम्बंध में जब उक्त ब्यक्ति के पत्नी द्वारा रतनपुर पुलिस में शिकायत किया गया तो घायल ब्यक्ति को अस्पताल डिस्चार्ज करा दिया गया।

अब घायल अपाहिज उत्तरा की पत्नी न्याय की गुहार लगाते हुए मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए रतनपुर पुलिस से मांग कर रही है।

मामले में घायल ब्यक्ति के पत्नी बीनू खैरवार का कहना का कहना कि लगभग 28 जनवरी 2021 से रोजगार गारंटी का कार्य सरपंच पुष्पा बाई,सरपंच पति बहोरिक, सचिव ओम प्रकाश,उपसरपंच अनील, रोजगार सहायक प्रदीप तिवारी के प्रत्यक्ष नियंत्रण में काम हो रहा था। काम के दौरान संजय प्रधान नामक ब्यक्ति से पेड़ कटवा रहे थे।अचानक पेड़ के कटे भारी तना आकार मेरे पति के ऊपर गिर गया जिससे मेरे पति के शरीर मे कई चोट आये है,कई जगह फेक्चर हो गया है मरणासन्न हालत में है।

इस प्रकार जानबूझकर लापरवाही से पेड़ कटाने का कार्य कराने के लिए सरपंच,सरपंच पति,सचिव, उपसरपंच समेत रोजगार सहायक ही मुख्य रूप से जिम्मेदार है कहते हुए उक्त मामले में रतनपुर थाना में शिकायत किया गया है।

अब मामले में पुलिस जाँच जारी है किंतु घायल ब्यक्ति के परिजन अपने पति के रोजगार के सहारे जीवन यापन कर रहे थे वो अब न्याय के लिए भटक रहे है अब देखना होगा कि क्या नियम कायदा कानून केवल गरीबो के लिए है या इन पंचायत के जिम्मेदार पदाधिकारियों पर अवैधानिक पेड़ कटाई के दौरान बुरी तरह से घायल होने वाले ब्यक्ति के पत्नी की शिकायत पर कार्यवाही किया जाएगा