जवानों को भारी नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों की थी ये तैयारी, जवानों ने फेर दिया उनकी योजना पर पानी

जवानों को भारी नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों की थी ये तैयारी, जवानों ने फेर दिया उनकी योजना पर पानी

News

नारायणपुर: बीजापुर मुठभेड़ के बाद नक्सलियों ने नारायणपुर में जवानों को भारी नुकसान पहुंचाने के लिए 3 किलो का टिफिन बम प्लांट यानी IED प्लांट कर रखी थी। समय रहते जवानों ने सर्चिंग के दौरान बम बरामद कर उसे निष्क्रिय कर दिया। जवानों की सूझबूझ से बड़ा हादसा होते-होते बच गया।

बताया जा रहा है कि नारायणपुर के कुरूशपाल में सड़क के किनारे आईईडी की गई थी। ITBP के जवान सर्चिंग पर निकले थे। उन्होंने सर्चिंग के दौरान आईईडी बरामद कर ली और उसे जंगल में नष्ट कर दिया। नारायणपुर एसपी ने घटना की पुष्टि की है।

इधर एक नक्सली पकड़ा गया, दो किलो का टिफिन बम भी बरामद:

दंतेवाड़ा में जिला पुलिस बल और डीआरजी की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबल के जवानों ने लाखों रुपये के एक ईनामी नक्सली को गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने नक्सली के कब्जे से एक टिफिन बम भी बरामद किया है। मुखबीर की सूचना के आधार पर पुलिस पार्टी को भेजा गया था। निलावाया नव निर्माण रोड पर सुरक्षाबलों को नुकसान पहुचाने नक्सली आईईडी लगाने वाला था। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने घटना की पुष्टि की है। नक्सली को अरनपुर थाना इलाके से गिरफ्तार किया गया है। मलंगीर एरिया कमेटी का गिरफ्तार नक्सली डीकेएमएस अध्यक्ष बताया जा रहा है।

एक नक्सली ने किया समर्पण:

बीजापुर में गलगम एरिया प्लाटून सेक्सन सी का कमांडर मल्ला मड़ावी नक्सलवाद से मुंह मोड़ कर मुख्य धारा में शामिल हुआ है। मल्ला माड़वी पर एक स्थायी वारंट लंबित था। 2018 में उसूर बस में आगजनी और 2019 मे खेतों में काम कर रहे डोजरों में आगजनी के मामलों में वो शामिल रहा। 1000 हजार का प्रोत्साहन राशि देकर ASP पंकज शुक्ला ने मुख्यधारा में शामिल कराया।